1954

02 जुलाई, 1954 सोजत शहर में जन्म हुआ।
 

1962

सन 1962 से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का स्वयंसेवक व शिक्षण वर्ग।

1965

सन 1965 में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का स्वयंसेवक बना । तथा सन 1965-66 व् 1967 में संघ के तीन आई.टी.सी. शिविर किये ।

1968

सन 1968 में संघ शिक्षा वर्ग , प्रथम वर्ग ओ.टी.सी. आदर्श विधा मंदिर प्रांगण , जयपुर में किया।

1970

सन 1970 में राजकीय उच्च माध्यमिक विधालय सोजतसिटी , पाली में छात्रसंग अध्यक्ष बने !

1972

सन 1972 में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघका पाली नगर कार्यवाह का दायित्व निभाया |
सन 1972-79 तक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का प्रचारक व आपातकाल में संगठित संघर्ष करते हुए क्रांतिदूत नामक समाचार पत्र का प्रकाशन किया ।

1973

सन 1973 में बांगड़ महाविधालय , पाली प्रमुख व् छात्रसंग का उपाध्यक्ष बना तथा शिक्षा जगत पाली में बांगड़ महाविधालय व अखिल भारतीय विधार्थी परिषद , पाली का वर्षो तक प्रभारी रहा । आज भी जिले में A.B.V.P को पूर्ण सहयोग एंव चुनावो में संपर्क व् छात्रों का ज़ुकाव आपने इस संगठन की और बढ़ता रहा है ।

1974

बांगड़ कॉलेज पाली से विज्ञान गणित डिग्री के साथ स्नातक
 

1975

सन 1975 आपातकाल में पाली में राष्ट्रिय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक के नाते संघषर्रत होकर 98 कार्यकर्ताओं को प्रोत्साहित कर जेल भिजवाया और पिछे उनके परिवार की सार संम्भाल का दायित्व निभाया ।

1977

1977 में भाजपा उम्मीदवार अमृत नाहटा के लिए सफल अभियान का आयोजन किया।
सन १९७७ में जनता पार्टी के प्रत्याशी अमृत नाहटा के चुनाव का संचालन किया ।

1977-1978

सन 1977-1978 में संघ का जयपुर में उप जिला प्रचारक का दायित्व निभाया । तथा 1978 में राजस्थान वनबसी कल्याण परिषद का जिला संयोजक बना ।

1979-1987

अक्टूबर 25, 1979-1987 सचिव और वनवासी कल्याण परिषद के अध्यक्ष के रूप में काम किया।
सन 1979 में पाली विधासभा क्षेत्र के प्रभारी का दायित्व निभाया एम भाजपा का सदस्य बना तथा राजनीति में सक्रीय भागीदारी निभाकर क्षेत्र में पार्टी के कई यादगार आन्दोलन एम कायर्क्रम संपन्न करवाये ।

1987

16 अक्टूबर 1987 को भाजपा के जिला कोषाध्यक्ष के रूप में चुने गए।
सन 1987 से 92 तक भाजपा जिला कोषाध्यक्ष, दिल्ली की चेतना रैली में पाली जिले का नेतृत्व किया।

1989

सन 1989 की बाढ में 16 फीट गहरी बहती नदी में तैर कर धींगाणा गांव का पता लगाकर राहत सामग्री पहुचाने में सहयोग किया।
 

1990

सन 1990 में एकता यात्रा की केशरिया वाहिनी का जिला संयोजक बनाया गया । तथा कार सेवा में पाली जिले का वाहिनी प्रमुख बनकर जिले का नेतृत्व किया तथा मथुरा के नरहौली थाने में सर्वाधिक पुलिस यातनायें सही । मथुरा जेल में प्रान्त कार्यवाह माननीय दादा भाई के साथ बन्द रहा ।

1992-1997

सन 1992 में पाली जिले के भाजपा कार्यकर्ताओं के अत्यधिक स्नेहवश पार्टी का जिलाध्यक्ष चुना गया । जिलाध्यक्ष कार्यकाल के समय जिला की सभी विधानसभा क्षेत्रों में कार्यकर्ता प्रशिक्षण शिविरों का आयोजन करवाता रहा हूँ तथा पार्टी दुआरा आयोजित सभी कार्यक्रमों , आंदोलन एम सम्मेलनों में बड़ी संख्या में जिले के युवा एम उत्साही कार्यकताओ के साथ जुड़कर सफलतापूर्वक टीम भावना से कार्य करते हुए सभी चुनावों में सफलता प्राप्त की ।

1993

सन 1993 में भारतीय जनता पार्टी दुअरा दिल्ली में आयोजित चेतन रैली में पाली जिले का नेतृत्व करते हुए पुलिसिया जुल्म का शिकार हुआ , पुनः पैर की हड्डी में फैक्चर हो जाने के कारण प्लास्टर चढ़ा , अस्पताल में भर्ती होना पड़ा ।

1998

सन 1998 के सम्पन लोकसभा चुनावों में कांग्रेसी विधायक दीवान मधोसिंह , सुखलाल सेणचा, भूमि विकास बैंक कांग्रेस अध्यक्ष सुशील चौधरी , पूर्व विधायक शिवदानसिंह को भाजपा उम्मदवार गुमानमल जी लौढा के पक्ष में करके उनका भरपूर सहयोग भारतीय जनता पार्टी प्रत्याशी श्री लोढा के पक्ष में लिया ।
सन 1998 लोकसभा चुनाव के दरम्यान कांग्रेसी विधायक श्री लक्ष्मणसिंह रावत (भीम ) को भी पार्टी पक्ष में करके रावत जाती बाहुल्य क्षेत्र में उपयोग लिया तथा इस में माननीय शेखावत साहब की सभा के दौरान "लक्ष्मणसिंहजी का कहना है , वोट कमल को देना है " का नारा लगा ।

2003

01 दिसम्बर 2003 में सपन्न विधानसभा चुनाव में सुमेरपुर क्षेत्र से कांग्रेस तत्कालीन मंत्री बीना कॉक को पराजित कर विधायक चुना गया।  

2004

भाजपा के जिलाध्यक्ष।
 
सन 2004 में पाली जिले में हुई अतिवृष्टि में सुमेरपुर क्षेत्र के गांवों में सहायता व् बाढ बचाव कार्य में सहयोग के साथ ही दानदाताओं के सहयोग से राहत एंव खाद सामग्री का वितरण किया।

2013-मौजूदा

विधायक, सुमेरपुर
भाजपा के जिलाध्यक्ष।